वास्तु

कैसे करें वास्तु से वैवाहिक रिश्ते को मजबूत

वास्तु शास्त्र का उपयोग और महत्त्व प्राचीन काल से ही रहा है चाहे घर बनाने, महल बनाने या मंदिर बनाने में, मगर वास्तु में भी कुछ वजह है जिसके कारण नियमों का पालन अवश्य करना चाहिए. घर में वैसे तो कोई भी अनुपयोगी चीज़ नहीं होनी चाहिए साथ ही अगर कोई चीज़ टूटी हुई हो तो उसे भी तुरंत घर से बहार करना चाहिए, यह घर में नकारात्मक उर्जा लाती है और सम्रधी में बाधा बनती है, तो आज जानेंगे क्योँ वैवाहिक जिंदगी में परेशानी पैदा कर सकता है टुटा हुआ पलंग…

वैवाहिक जीवन का सुख हमें तभी मिलता है जब पति पत्नी दोनों के मध्य एक प्यार भरा रिश्ता हो साथ ही दोनों में एक दुसरे के प्रति समर्पण की संपूर्ण जीवन साथ रहने की आस्था और विश्वास हो, हमारे धर्म शाश्त्रो में लिखा है की घर जो हमारा निवास स्थान होता है एक स्वर्ग के समान होता है, इसमें हमेशा ख़ुशी, स्वछता, शुद्धता और सकारात्मक उर्जा का समागम होना चाहिए

वैवाहिक जीवन में सुख शांति के लिए बहुत जरूरी है कि पति-पत्नी जिस पलंग पर सोयें वो कहीं से भी टुटा हुआ ना हो साथ ही उसमे किसी भी प्रकार के कोई छेद ना हो, वास्तु के अनुसार यदि जिस पलंग पर सोते है अगर वो टुटा हुआ होगा तो दोनों के बीच रिश्तों में दरार आने या विवाद होने की सम्भावना रहती है |

घर में उपयोग किये जाने वाले रोटी बेलने वाले “बेलन” का भी टुटा हुआ नहीं होना चाहिए क्यूंकि इससे पकने वाली रोटी को खाने से भी वास्तु दोष बताये गए है जिसके कारण वैवाहिक जीवन में क्लेश जैसी स्थिति पैदा हो सकती है

घर में कभी भी टुटा हुआ लकड़ी का सामान नहीं होना चाहिए क्यूंकि यह घर में नकारात्मक उर्जा को प्रवेश करती है और घर में सम्रधि को आने से रोकती है, इसलिए जब कभी भी आपको कोई टूटी हुई लकड़ी की चीज़ या कोई भी ऐसी चीज़ दिखे तो तुरंत या तो हटा दे या उसे ठीक करवा लें. इससे आपके घर में पैसा का और सकारात्मक उर्जा का प्रवेश बना रहेगा.

loading...