Home / अध्यात्म / भविष्यपुराण द्वारा जानिये किसी का भी स्वभाव और भविष्य

भविष्यपुराण द्वारा जानिये किसी का भी स्वभाव और भविष्य

भविष्यपुराण में कहा गया है कि किसी भी व्यक्ति को देखकर सहज ही उसके स्वभाव तथा भविष्य का अंदाजा लगाया जा सकता है शास्त्रों में कहा गया है कि किसी भी व्यक्ति को देखकर सहज ही उसके स्वभाव और भविष्य का अनुमान लगाया जा सकता है। भविष्यपुराण में ब्रह्माजी कहते है कि किसी भी पुरुष के स्वभाव को जानने के लिए उसके सभी अंग यथा दांत, बाल, नाखून, दाढ़ी-मूंछ को ध्यान से देखना चाहिए। इनको देखकर पुरुष के स्वभाव से जुड़ी बहुत सी गुप्त बातें सहज ही मालूम हो जाती है

(1) यदि किसी पुरुष की गर्दन सामान्य से अधिक लंबी होती है तो ऐसे लोगों को जीवन में काफी अधिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके विपरीत छोटी गर्दन तथा सामान्य गर्दन वाले पुरुष सुखी और धनी जीवन जीते हैं। ऐसे पुरुष अन्य लोगों की तुलना में भाग्यशाली होते हैं।

(2) पुरुषों के लिए चौड़े और मजबूत कंधे शुभ होते हैं। जबकि छोटे, दबे हुए कंधे वाले लोगों को जीवन में सफलता के लिए संघर्ष करना पड़ता है।

(3) जिन पुरुषों की ठुड्डी छोटी व चपटी होती हैं वे लोग धन का सुख प्राप्त नहीं कर पाते हैं। उभरी हुई ठुड्डी शुभ होती है।

(4) यदि किसी पुरुष के हाथों की अंगुलियां टेड़ी-मेड़ी हो, नाखून रूखे तथा भद्दे दिखाई देते हैं और उनकी त्वचा भी अनाकर्षक दिखाई देती है तो ऐसे पुरुषों को कभी सफलता नहीं मिलती। उन्हें गरीब, अस्त-व्यस्त और दुखी जीवन जीने के लिए मजबूर होना पड़ता है।

(5) यदि किसी पुरुष के पैर कोमल, भरे हुए (मांसल) तथा रक्तवर्ण होते हैं और जिनके पैरों में पसीने नहीं आता, वे धनी होते हैं तथा जीवन की तमाम सुख-सुविधाएं उनके आगे लाइन लगाकर खड़ी रहती हैं।

(6) यदि किसी पुरुष के पैर में तर्जनी अंगुली (अंगूठे के पास वाली अंगुली) अंगूठे से बड़ी हो तो यह उस व्यक्ति के रोमांटिक होने तथा स्त्री सुख प्राप्त करने के स्वभाव को बताता है।

(7) यदि किसी व्यक्ति की जांघ पर बाल नहीं हो तो ऐसे पुरुषों को दुर्भाग्यशाली ही मानना चाहिए। उन्हें अपने अथक प्रयासों के बाद भी असफलता ही मिलती है।

(8) जिस व्यक्ति की जांघ लंबी, सुडौल, मजबूत तथा मांसल होती है वे भाग्यशाली होते हैं। परेशानियां और समस्याएं उनसे दूर ही रहती है। ऐसे लोग जहां भी हाथ डालें, वहीं सफलता मिलती हैं।

(9) यदि किसी पुरुष की हथेली का तल गहरा है तो उसे पिता की ओर से धन का सुख नहीं मिल पाता, उसे स्वयं ही अपनी आर्थिक समस्याओं से लड़ना होता है। परन्तु यदि किसी की हथेली का बीच का हिस्सा गहरा है तो वह दानी माना जाता है तथा जीवन में आमतौर पर सुखी रहते हैं।

loading...

Check Also

क्या आप जानते है कि भीम का अहंकार किसने और क्योँ चूर किया

भीम को यह अभिमान हो गया था कि संसार में मुझसे अधिक बलवान कोई और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *