Home / आरती

आरती

June, 2017

  • 23 June

    श्रीगोपाल सहस्त्रनाम स्तोत्रम्-4

    विष्वक्सेन: सत्यसन्ध: सत्यवान्सत्यविक्रम: । सत्यव्रत: सत्यसंज्ञ सर्वधर्मपरायण: ।।121।। आपन्नार्तिप्रशमनो द्रौपदीमानरक्षक: । कन्दर्पजनक: प्राज्ञो जगन्नाटकवैभव: ।।122।। भक्तिवश्यो गुणातीत: सर्वैश्वर्यप्रदायक: । दमघोषसुतद्वेषी बाण्बाहुविखण्डन: ।।123।। भीष्मभक्तिप्रदो दिव्य: कौरवान्वयनाशन: । कौन्तेयप्रियबन्धुश्च पार्थस्यन्दनसारथि: ।।124।। नारसिंहो महावीरस्तम्भजातो महाबल: । प्रह्लादवरद: सत्यो देवपूज्यो भयंकर: ।।125।। उपेन्द्र: इन्द्रावरजो वामनो बलिबन्धन: । गजेन्द्रवरद: स्वामी सर्वदेवनमस्कृत: ।।126।। शेषपर्यड़्कशयनो वैनतेयरथो जयी …

  • 23 June

    श्रीगोपाल सहस्त्रनाम स्तोत्रम्-3

    मुरारिर्लोकधर्मज्ञो जीवनो जीवनान्तक: । यमो यमादिर्यमनो यामी यामविधायक: ।।81।। वसुली पांसुली पांसुपाण्डुरर्जुनवल्लभ: । ललिताचन्द्रिकामाली माली मालाम्बुजाश्रय: ।।82।। अम्बुजाक्षो महायज्ञो दक्षश्चिन्तामणिप्रभु: । मणिर्दिनमणिश्चैव केदारो बदरीश्रय: ।।83।। बदरीवनसम्प्रीतो व्यास: सत्यवतीसुत: । अमरारिनिहन्ता च सुधासिन्धुर्विधूदय: ।।84।। चन्द्रो रवि: शिव: शूली चक्री चैव गदाधर: । श्रीकर्ता श्रीपति: श्रीद: श्रीदेवो देवकीसुत: ।।85।। श्रीपति: पुण्डरीकाक्ष: पद्मनाभो …

  • 23 June

    श्रीगोपाल सहस्त्रनाम स्तोत्रम्-2

    क्रीडाकमलसन्दोहो गोपिकाप्रीतिरंजन: । रंजको रंजनो रड़्गो रड़्गी रंगमहीरुह ।।41।। काम: कामारिभक्तोsयं पुराणपुरुष: कवि: । नारदो देवलो भीमो बालो बालमुखाम्बुज: ।।42।। अम्बुजो ब्रह्मसाक्षी च योगीदत्तवरो मुनि: । ऋषभ: पर्वतो ग्रामो नदीपवनवल्लभ: ।।43।। पद्मनाभ: सुरज्येष्ठो ब्रह्मा रुद्रोsहिभूषित: । गणानां त्राणकर्ता च गणेशो ग्रहिलो ग्रही ।।44।। गणाश्रयो गणाध्यक्ष: क्रोडीकृतजगत्रय: । यादवेन्द्रो द्वारकेन्द्रो मथुरावल्लभो …

  • 23 June

    श्रीगोपाल सहस्त्रनाम स्तोत्रम्

    अथ ध्यानम कस्तूरीतिलकं ललाटपटले वक्ष:स्थले कौस्तुभं नासाग्रे वरमौत्तिकं करतले वेणुं करे कंकणम । सर्वाड़्गे हरिचन्दनं सुललितं कण्ठे च मुक्तावलि – र्गोपस्रीपरिवेष्टितो विजयते गोपालचूडामणि: ।।1।। फुल्लेन्दीवरकान्तिमिन्दुवदनं बर्हावतंसप्रियं श्रीवत्साड़्कमुदारकौस्तुभधरं पीताम्बरं सुन्दरम । गोपीनां नयनोत्पलार्चिततनुं गोगोपसंघावृतं गोविन्दं कलवेणुवादनपरं दिव्याड़्गभूषं भजे ।।2।। इति ध्यानम ऊँ क्लीं देव: कामदेव: कामबीजशिरोमणि: । श्रीगोपालको महीपाल: सर्वव्र्दान्तपरग: ।।1।। …

  • 17 June

    जानिये शनि देव की की आरती

    शनि देव की आरती आरती  कीजै  नरसिंह  कुंवर की ।   वेद विमल यश गाऊं मेरे प्रभु जी । ।   पहली   आरती   प्रह्लाद   उबारे ।  हिरणाकुश  नख   उदार  विदारे । ।    दूसरी    आरती   वामन   सेवा । बलि  के  द्वार  पधारे  हरी …

December, 2015

  • 26 December

    कुंडली मिलान में तत्वों का मिलान कितना आवश्यक

    ।।कुंडली मिलान में तत्वों का मिलान कितना आवश्यक।। ¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤ तत्व- 1-अग्नि 2-प्रथ्वी 3-वायु 4-जल आकाश तत्व सभी तत्वों मे सम्मिलित है। ¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤ तत्व- same- मित्र सम शत्रु अग्नि- अग्नि- जल- प्रथ्वी – वायु प्रथ्वी – प्रथ्वी -वायु – जल,अग्नि- no वायु – वायु – प्रथ्वी – जल -अग्नि जल – …

October, 2015

  • 6 October

    घर और वाहन का सुख कैसे प्राप्त करें

    रोटी कपडा और मकान हर किसी की बुनियादी जरुरत है आज के भाग दौड़ के समय में वाहन भी एक अनिवार्यता बनती जा रही है लेकिन कुछ लोगों को घर बनाने और गाड़ी खरीदने में बहुत सी अडचनें आती हैं जिसके कारण और निवारण निम्नानुसार हैं :- घर अपना घर …

July, 2015