Home / अध्यात्म

अध्यात्म

जानिये क्योँ दुर्योधन स्वयं अपनी हार का जिम्मेदार था

महाभारत का युद्ध कुरुक्षेत्र के मैदान में लड़ा गया था। कौरवों ने पांडवों को हराने के लिए साम, दाम, दंड, भेद का इस्‍तेमाल किया। भीष्‍म पितामह भले ही कौरवों के सेनापति थे, लेकिन दुर्योधन को उन पर पूर्ण विश्‍वास नहीं था। वह मन ही मन सोचता था कि तात श्री …

Read More »

चमकदार किस्मत के लिए राशि के अनुसार करें पूजन

श्रावण पर्व पर अलग-अलग राशि के लोगों के लिए विशेष पूजन के प्रकार का प्रावधान है। भगवान शिव यूं तो मात्र जल और बिल्वपत्र से प्रसन्न हो जाते हैं लेकिन उनका पूजन अगर अपनी राशि के अनुसार पूजन किया जाए तो अतिशीघ्र फल की प्राप्ति होती है। मेष – रक्तपुष्प …

Read More »

जानिए क्यों प्रिय है भगवान शिव को श्रावण मास में अभिषेक और बेलपत्र

पौराणिक मान्यता के अनुसार श्रावण महीने को देवों के देव महादेव भगवान शंकर का महीना माना जाता है। इस संबंध में पौराणिक कथा है कि जब सनत कुमारों ने महादेव से उन्हें श्रावण महीना प्रिय होने का कारण पूछा तो महादेव भगवान शिव ने बताया कि जब देवी सती ने …

Read More »

क्या आप जानते है कि भीम का अहंकार किसने और क्योँ चूर किया

भीम को यह अभिमान हो गया था कि संसार में मुझसे अधिक बलवान कोई और नहीं है| सौ हाथियों का बल है उसमें, उसे कोई परास्त नहीं कर सकता… और भगवान अपने सेवक में किसी भी प्रकार का अभिमान रहने नहीं देते| इसलिए श्रीकृष्ण ने भीम के कल्याण के लिए …

Read More »

इन साधारण से उपायों से आप भी कर सकते है भोले बाबा को प्रसन्न

यूं तो श्रावण मास का अत्यंत महत्व है लेकिन उसमें भी श्रावण के सोमवार का विशेष महत्व है। वार प्रवृत्ति के अनुसार सोमवार भी हिमांशु अर्थात चन्द्रमा का ही दिन है। चन्द्रमा की पूजा भी स्वयं भगवान शिव को स्वतः ही प्राप्त हो जाती है क्योंकि चन्द्रमा का निवास भी …

Read More »

यदि आप भी इन 8 तरह से बनाएंगे शिवलिंग तो हो सकती है आपकी भी मनोकामना पूर्ण

सावन के महीने में भक्तगण क्या-क्या नहीं करते भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए… यह जरूरी भी है क्योंकि हिन्दू मान्यता के अनुसार इन दिनों भगवान शिव पृथ्वी पर होते हैं। पुराणों में वर्णित है कि अलग-अलग सामग्री से तैयार शिवलिंग प्रतिमा से अलग-अलग मनोकामना की पूर्ति होती है। 1. …

Read More »

जानिये क्या होते है यज्ञोपवीत के नियम और उसके विधान के बारे में

जनेऊ को संस्कृत भाषा में ‘ यज्ञोपवीत ’ कहा जाता है। यह सूत से बना पवित्र धागा होता है, जिसे व्यक्ति बाएं कंधे के ऊपर तथा दाईं भुजा के नीचे पहनता है। अर्थात इसे गले में इस तरह डाला जाता है कि वह बाएं कंधे के ऊपर रहे। जनेऊ पहनने …

Read More »

जानिये कैसे आया भीम में दस हजार हाथियों का बल

पाण्डु पुत्र भीम के बारे में माना जाता है की उसमे दस हज़ार हाथियों का बल था जिसके चलते एक बार तो उसने अकेले ही नर्मदा नदी का प्रवाह रोक दिया था। लेकिन भीम में यह दस हज़ार हाथियों का बल आया कैसे इसकी कहानी बड़ी ही रोचक है। कौरवों …

Read More »

जानिये कैसे आप अपनी राशि के अनुसार घर पर ही कर सकते है शिवजी का पूजन

कई बार हम देखते है की किसी न किसी कारणवश कुछ लोग मंदिर जाने में असमर्थ होते है मगर जो श्रावण मास में मंदिर नहीं जा सकते, तो आप घर में रहकर भी कर सकते है शिवजी का पूजन, तो आइये जानते है राशि के अनुसार कैसे करें शिवजी का पूजन। आपको सिर्फ अपनी राशि पता करना …

Read More »

सावन के महीने में करें शिवजी के चमत्कारी मंत्रों का स्मरण

सावन मास में शिव को प्रसन्न करने का यह एक अचूक तरीका हम आपके लिए लाए हैं। आपको बस सावन के शुरू के 11 दिन ही इसे करना है। 11 चावल 11 दिन तक इन 11 मंत्रों के साथ शिव जी को चढ़ाना है। पूरी श्रद्धा और भक्ति से कर …

Read More »