Home / स्वास्थय / जानिये कैसे कम करें हाई ब्लड-प्रेशर को

जानिये कैसे कम करें हाई ब्लड-प्रेशर को

उच्च रक्तचाप का एक और नाम हाइपरटेंशन भी है। अगर किसी व्यक्ति को उच्च रक्तचाप होता है, तो इसका मतलब है कि उसकी धमनियों की दीवारें निरंतर अत्यधिक दबाव प्राप्त कर रही हैं। उच्च रक्तचाप के आमतौर पर कोई लक्षण नहीं होते हैं, इसलिए ब्लड प्रेशर मीटर द्वारा मापा जाना ही रक्तचाप पता करने का आसान तरीका है। उच्च रक्तचाप का कोई इलाज नहीं है, परन्तु उपचार और प्रबंधन के साथ आप एक स्वस्थ रक्तचाप भरा और लम्बा जीवन जी सकते हैं। यदि उच्च रक्तचाप बिना इलाज के या अनियंत्रित छोड़ दिया जाए, तो उच्च रक्तचाप कई स्वास्थ्य समस्याएं पैदा करता है। इन स्वास्थ्य समस्याओं में दिल की विफलता, दृष्टि में कमी, स्ट्रोक और किडनी रोग शामिल हैं। आइये आज हम आपको कुछ प्राकृतिक जड़ी बूटियों से उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के बारे में बताते हैं।

हाई ब्लड-प्रेशर को कम करे लहसुन

हाई ब्लड-प्रेशर को कम करे लहसुन

यह मसाला आपके भोजन में स्वाद लाता है। लहसुन से रक्त प्रवाह आसान होता है और यह आपके उच्च रक्तचाप को भी कम कर देता है। लहसुन में आपके रक्त वाहिकाओं को सिकोड़ने और फैलाने की शक्तियां होती है, जो आपके रक्तचाप को कम और नियंत्रित करने में सहायक होती है। आप अपने पसंदीदा खाने में ताजा लहसुन या भुना हुआ लहसुन भी डाल सकते हैं। यदि आप साबुत लहसुन नहीं खा सकते हैं, तो आप लहसुन की पेस्ट भी उपयोग कर सकते हैं।

अलसी के बीज

अलसी के बीज रक्त कोलेस्ट्रॉल को कम करने, शक्कर सहनशीलता में सुधार और एक एंटी-ऑक्सिडेंट के रूप में काम करते हैं जिससे एथेरोसक्लोरोटिक ह्रदय-वास्कुलर रोग से बचना आसान होता है। अलसी के बीज ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर होते है, जो उच्च रक्तचाप को कम करते हैं। आप अलसी युक्त कई उत्पादों को खरीद सकते हैं और उन्हें अपने भोजन पकाते हुए या पकाये हुए भोजन में डाल कर भी उपयोग में ला सकते है।

मरीज़ों में रक्तचाप कम करता है दालचीनी

मरीज़ों में रक्तचाप कम करता है दालचीनी

दालचीनी एक स्वस्थ और स्वादिष्ट मसाला है जिसकी बहुत कम मात्रा आपके खाने और व्यंजनों में स्वाद डालती है। कुछ अध्ययन में ये भी पाया गया है कि रोजाना दालचीनी के उपयोग से डायबिटीज वाले मरीज़ों में रक्तचाप कम होता है। दालचीनी आपके उच्च रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित कर सकती है और खाने के स्वाद को भी बढ़ाती है। आप इसे अपने भोजन में, आपके ब्रेकफास्ट ओट-मील और अपनी कॉफी पर छिड़क कर उपयोग कर सकते हैं।

इलायची

इलायची भी एक स्वादिष्ट मसाला है जो भारत में पैदा होता है जिसे कई व्यंजनों में उपयोग किया जाता है। इलायची पर किये गए अध्ययन में पाया गया है कि कुछ महीनों तक रोज़ इलायची खाने के बाद मरीजों में रक्तचाप में लाभ देखा गया है। इसके लिए आप इलायची के बीज़ों या मसाले को सूप, चाय, कॉफी, भोजन में और कई बेकरी के खाने के सामान में भी अच्छे स्वास्थ्य लाभ के लिए उपयोग कर सकते हैं।

रक्तचाप में लाभ देता है तुलसी

रक्तचाप में लाभ देता है तुलसी

तुलसी थोड़ा रक्त पतला करती है और अच्छे रक्त बहाव को बढ़ावा देती है। तुलसी की पत्तियां स्वादिष्ट होती हैं, जो कई खाने की वस्तुओं में अच्छे स्वाद और उपयोग के लिए खाई जाती है। तुलसी तनाव, उच्च रक्तचाप को कम करती है और इसे रोजाना खाया जा सकता है, जिससे कोलेस्ट्रॉल के स्तर में भी कमी आती है। तुलसी के बीजों को साबुत या पीस कर, किसी भी पकवान जैसे सूप से लेकर बेकरी के सामान तक में इस्तेमाल किया जा सकता है। तुलसी के ताजा पत्तों की पेस्ट सूप्स, सलाद और चावल के पुलाव के साथ भी खाई जा सकती हैं।

Note: यहाँ पर दिए गए सभी उपाय सामान्य परेशानी को ठीक करने के लिए है, यदि आपको बहुत ज्यादा या थोड़े से ज्यादा परेशानी है तो कृपया डॉक्टर से सलाह अवश्य लें और उनके निर्देशानुसार ही प्रयोग करें.

loading...

Check Also

अगर आप भी डायबिटीज से है परेशान तो जानिये क्या खाये और क्या नहीं

आज के समय में डायबिटीज होना कोई बड़ी बात है नहीं रिसर्च के मुताबिक 100 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *